बोरिंग के नाम पर हो रहा किसानों का शोषण

दिनेश यादव,मोहम्मदी / वि.ख. मे तैनात जेई एम आई से परेशान किसानों ने जानकारी देते हुए उपजिलाधिकारी को बताया कि बोरिंग कराने के लिए हम लोग वि.ख.जाते है वहाँ जेई साहब नही मिलतेहै।जेई साहब से पूछा तो बताया कि मेरे पास नरेगा, आवासो की जाँच, नगरपालिका का काय॔, नगर पंचायत बरबर का काय॔ भी करना पडताहै । किसानों ने यह भी बताया कि बोरिग के लिए जो धन राशि शासन से दी जाती है वह हम लोगों को नही मिल पा रही है।इस के बाद जो मजदूरों का पैसा मिलता है वह भी नही दिया जाता है।कमीशन खोरी के चलते यह योजना कारगर होती नही प्रा तीत हो रही है।किसानों का कहना है कि यदि जाँच करा ली जाए तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा ।जेई का कहना कि जो आरोप लगाए गए है वो गलत है ।

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: abhishek4aajtak@gmail.com

Comments are closed.