समाज के अंतिम पायदान तक के व्यक्ति को मिले योजनाओं का लाभ :- सीडीओ

लखीमपुर खीरी / पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी के उपलक्ष्य में लखीमपुर विकासखण्ड परिसर में बुधवार को भव्य विकास खण्ड स्तरीय मेले और प्रदर्शनी का आयोजन हुआ। इस मेला/प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य सरकार की लाभकारी योजनाओं को समाज के अंतिम पायदान तक के व्यक्ति तक पहुंचाना है।

तीन दिवसीय मेले का शुभारम्भ मुख्य विकास अधिकारी अमित सिंह बसंल ने फीता काटकर किया। इसके उपरांत सांस्कृतिक पण्डाल में पहुंचकर उन्होनें दीप प्रज्जवलित करते हुए पं0 दीन दयाल जी के चित्र पर मार्ल्यापण किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीडीओं ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की विचारधारा थी कि हर गरीब के घर की रोशनी हो और खुशहाली आए। इसी लक्ष्य की पूर्ति के उद्देश्य से यह कार्यक्रम आयोजित हो रहे है ताकि सभी को योजनाओं की जानकारी हो और पात्र लाभान्वित हो सके। यही सरकार की मंशा है। इसमें सभी का सहयोग अपेक्षित है। ऐसा तभी संभव होगा जब ग्राम स्तर के लेखपाल सहित समस्त कर्मचारी पूरी ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन का संकल्प ले। उन्होनंे पं0 दीनदयाल के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह एक महान चिन्तक और संगठनकर्ता थे।

 उन्होनें कहा कि अंत्योदय मेला और प्रदर्शनी का एक उद्देश्य यह भी है कि आम जनता को सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी मिले जिससे उन्हें योजनाओं का लाभ आसानी से मिल सके। इस मौके पर पं0 दीन दयाल उपाध्याय के जीवन से सम्बन्धित लद्यु नाटिका, गीत, स्वच्छता पर आधारित विभिन्न सांस्कृतिक दलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। स्कूली बच्चों ने स्वागत गीत सहित अन्य कार्यक्रम प्रस्तुत किये। राजेन्द्र प्रसाद ओझा ने पं0 दीन दयाल उपाध्याय जी के अपने विचार व्यक्त किये। 

इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 जावेद अहमद, परियोजना निदेशक, जिला विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह, खण्ड विकास अधिकारी विपिन कुमार चौधरी, जिला समाज कल्याण अधिकारी ओपी सिंह, सहायक श्रमायुक्त एकलाख अहमद, जिला सेवायोजन अधिकारी रत्नेश त्रिपाठी, सहायक निदेशक सूचना बीपी गौतम, अपर जिला सूचना अधिकारी दिव्या निगम सहित अधिकारी व आम जन मौजूद रहे। 

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: abhishek4aajtak@gmail.com

Comments are closed.