अधिवक्ता की गुमशुदगी के मामले में सीजेएम ने वांछितो के विरुद्ध दिया नार्को टेस्ट कराये जाने का आदेश

लखीमपुर खीरी / गोला गोकर्णनाथ थाना क्षेत्र की नानक चौकी की लक्ष्मी नगर कालोनी का का रहने वाले अजेंद्र उर्फ अंजू पेशे से वकील थे उनके परिजनों की माने तो वो लखीमपुर कचेहरी मे वकालत करते थे दिनांक 26/04/2017 को घर से लखनऊ गये थे । परिवारी जनों से दूसरे दिन तक फोन पर वार्ता न होने के कारण परिजनों ने चिंता व्यक्त करते हुए दिनांक भाई अरुण कुमार सिंह ने 27/04/17 को थाने मे अपहरण व गुमशुदगी की सूचना देकर शक के आधार पर उनके चार दोस्त संजय कुमार पुत्र मथुरा प्रसाद, जुबेर पुत्र इदरीश,कुमारी आरती पुत्री शिव शरण, हरिशचंद्र श्रीवास्तव पुत्र श्री कृष्ण मोहन श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी के विरुद्ध हत्या अपहरण करने का आरोप लगाते हुए चारों दोस्तो के खिलाफ कोतवाली गोला मे मुकदमा अपराध संख्या 205/17 धारा 363 के तहत अभियोग पंजीकृत कराया वहीं प्राभारी निरीक्षक ने बताया कि इस प्रकरण से संबंध मे कई लोगो से पूछताछ की गई और कई विवेचको ने विवेचना की लेकिन कोई सबूत हाथ नही लगा। काफी समय बीतने के बाद परिजनों ने न्यायालय की शरण ली गौरतलब तो यह हैं कि उक्त विपक्षीगण उसी दिन से फरार चल रहे है । जिससे शक की सुई का कारण उक्त लोगो पर पूर्ण रूप से सिद्ध होता है। तथा परिजनो ने कहा कि अधिवक्ता अजेंद्र की गुमशुदी मे उपरोक्त सभी लोगों का हाथ है । मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट खीरी ने पूरे प्रकरण को सुनकर प्राभारी निरीक्षक गोला संजय त्यागी को जाँच रिपोर्ट प्रेषित करने का आदेश दिया । प्राभारी निरीक्षक के भौतिक सत्यापन रिपोर्ट को संज्ञान मे लेकर उक्त सभी वांछित अभियुक्तों का नार्को टेस्ट कराये जाने हेतु आदेश दिया। जिससे अधिवक्ता अर्जेंद्र के परिवारीजनों को न्याय की फिर से आश जगी है ।

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: abhishek4aajtak@gmail.com

Comments are closed.