शव रखकर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

लखीमपुर खीरी / दो दिन पहले जिला जेल में हुई विचाराधीन बंदी रामकुमार की मौत के बाद शव लेकर घर पहुंचे आक्रोशित परिजनों ने मितौली पुलिस पर पिटाई और टॉर्चर करने का आरोप लगाते हुए शव मैगलगंज से लखीमपुर आने वाले हाईवे पर रखकर जाम लगा दिया । घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची मितौली पुलिस और सीओ मितौली प्रदीप सिंह ने सड़क पर शव रखकर जाम लगा रहे ग्रामीणों पर जमकर लाठियां भांजी और लोगों को मौके से भगा दिया और शव को अंतिम संस्कार के लिए भिजवा दिया । 19 मार्च को मितौली पुलिस द्वारा चोरी के आरोप में रामकुमार को जेल भेजा गया था परिजनों का कहना है कि मितौली पुलिस ने रामकुमार को इतना टॉर्चर कियाकि अंदरूनी चोट के चलते उसकी मौत हो गई ।वही प्रदर्शन के दौरान परिजनों की कई बार पुलिस से झड़प भी हुई। दरअसल पुलिस जबरन शव हटवाना चाह रही थी लेकिन परिजन इसका विरोध कर रहे थे फिर क्षेत्राधिकारी मितौली प्रदीप सिंह के आदेश पर भारी फोर्स ने न्याय मांग रही व दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे परिजनों महिलाओं व ग्रामीणों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा ।यही नहीं पुलिस वालों ने महिलाओं पर भी डंडे बरसाए। खुद क्षेत्राधिकारी इस बर्बरता में पीछे नहीं रहे लाल रंग की हेलमेट पहने क्षेत्राधिकारी के तेवर आप तस्वीरों में साफ देख सकते हैं काबिले गौर है प्रदेश के पुलिस प्रमुख ने 24 घंटे पहले ही अपनी पुलिस को यह आदेश दिया है कि महिलाओं और बुजुर्गों के प्रति पुलिस जनों द्वारा अतिसंवेदनशीलता बरती जाए लेकिन क्षेत्राधिकारी मितौली के लिए डीजीपी का आदेश कितना मायने रखता है यह तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है ।

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: abhishek4aajtak@gmail.com

Comments are closed.