तीस रूपये लेकर बनाये जाते है आधार कार्ड

 

विमलेश भदौरिया,उचौलिया / भारत सरकार द्वारा जारी आदेशो की धज्जिया खुलेआम कई भ्रष्टाचारी अधिकारी उङा कर अपनी जेबे भर रहे है | इसी का नमूना जिस भी उच्च अधिकारी को देखना हो वह ऊचौलिया आकर देख सकता है ऊचौलिया मे तीस रूपये लेकर आधार कार्ड बनाये जाते है | ऊचौलिया मे हाईवे के किनारे एक जगह पर कैम्प लगाकर बनाये जा रहे है | जबकि सरकार का आदेश है कि आधार कार्ड निशुल्क मे बनाया जाये | मगर भ्रष्टाचार मे डुबकी लगाने वाले अधिकारी इन सब आदेशों को दरकिनार करके सीधी साधी भोली भाली जनता को लूट रहे है | इन अधिकारी के साथ कुछ लोग साठगांठ करके अपनी भी जेबे भर लेते है मैनेजकारवीडाटा नामक कम्पनी को सरकार द्वारा ठेका दिया गया है | तब भी गरीब लोगों से तीस रूपये की अवैध बसली की जाती है सरकार चाहती है | हमारे द्वारा चलाई गई योजना का लाभ गरीब जनता को मिले लेकिन यह दलाल भ्रष्टाचारी अधिकारी मिलकर पब्लिक को मुर्ख बनाकर पैसे लूट लेते है कुछ लोग ऐसे भी है वह प्रधानी का चुनाव लङना चाहते है और पब्लिक से कहते है अगर कोई काम हो तो हमे बताना जब आधार कार्ड बनवाने को जनता कहती है तो वह कहते है ठीक अच्छा मै कैम्प लगवा दूंगा जब कैम्प पर लोग बनवाने जाते है तो उनसे बीस तीस रूपये की अवैध बसूली की जाती है | जिससे जनता द्वारा मेहनत से कमाई रकम को ये अवैध रूप से ऐठ कर अपनी जेबे भर रहे है | सरकार को ऐसे अधिकारीयो के खिलाफ सख्त से सख्त कारवाई करनी चाहिए |

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: [email protected]

Comments are closed.