गोवा के लोकोत्सव में दिखेगी थारू संस्कृति

लखीमपुर खीरी / भारत नेपाल सीमा पर दुधवा नेशनल पार्क से सटे जंगलों में बसी थारू जनजाति की अनूठी संस्कृति को अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल सकेगी। थारू हस्तशिल्प को दुनिया की लोककलाओं और हस्तशिल्प में प्रतिनिधित्व कराने की कवायद शुरू हो गई है। आगामी आठ जनवरी से 18 जनवरी तक गोवा में होने वाले लोकोत्सव-2016 में इस बार उत्तर प्रदेश से खीरी जिले के थारू आदिवासी प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। डीएम किंजल सिंह की पहल पर गोवा के लोकोत्सव में थारू स्टाल लगाए जा रहे हैं। गोवा में होने वाले लोकोत्सव-2016 में आदिवासी थारू संस्कृति, लोक कला और उनके हस्तशिल्प को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए स्टाल लगाए जा रहे हैं। प्रयास यह किया जा रहा है कि थारू संस्कृति के सभी पहलुओं को इस ढंग से प्रदर्शित किया जाय कि देश विदेश के लोग उनकी संस्कृति से अच्छी तरह रूबरू हो सकें। लोकोत्सव की जिले में बड़े पैमाने पर तैयारियां की जा रही हैं। डीएम किंजल सिंह खुद अपनी देखरेख में तैयारियां करा रहीं …

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: [email protected]

Comments are closed.