माँ बाप से बड़ा कोई भगवान नही :- सुधीर सिंह चौहान

लखीमपुर खीरी /
माँ- बाप 
माँ -बाप से बड़ा कोई भगवान नहीं है 
भगवान -से बड़ा कोई इंसान नहीं है |

पैदा किया है तुमको जिसने चलना सिखाया 
खुद – भूखी रह के माँ ने तुझे – दूध पिलाया |

दर्दे- जिगर में रख के माँ तो मुस्कुरा रही 
थपकी- लगा के तुमको लोरिया सुना रही |

ऊगली पकड़ रोज तुम्हे चलना सिखाया 
गर पाँव लड़खड़ाये तो संभलना सिखाया |

पौधे की तरह सींच के तुमको किया बड़ा 
पढ़ा- लिखा के तेरे पैरो पर किया खड़ा |

माँ बाप के तुझपे असंख्यों कर्ज बन रहे 
तुमको अदा करने के सारे फर्ज बन रहे |

माँ- बाप की ख़ुशी में तेरे है सभी जहाँ 
खुशियो के सारे रंग बरसने लगे वहाँ |

माँ बाप का भूले से कभी दिल न दुखाना
सेवा में माँ की रहता है जन्नत का खजाना ।

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: [email protected]

Comments are closed.