​बम भोले के नारो से गूंजी छोटी काशी

ब्रहम ऋषि नागर,लखीमपुर खीरी / उत्तर भारत के प्रसिद्ध गोकर्ण नाथ के नाम से विख्यात रामायण कालीन शिव मंदिर गोला मे सावन के पहले सोमवार को मोक्ष दायिनी नदी गंगा मैया ,नेपाल की गंगा कही जाने वाली कर्णाली (घाघरा) व सरयू तथा शारदा मैया से पवित्र जल ले कर पैदल यात्रा करके अपने भोले नाथ का पूर्ण श्रद्धा भाव से जलाभिषेक करने की आरजू ले कर आने वाले हजारों कावरिया भक्तो के नगर मे प्रवेष करते ही नगर का बातावरण साक्षात शिवमय हो गया है। कांवरियों की यात्रा निरापद हो सके व सभी शिव भक्तों को आसानी से उनके आराध्य के दर्शन पूजन संपन्न हो सके इसके लिये शासन प्रशासन ने काफी पुख्ता इंतजाम किये है नगर के शिवमंदिर क्षेत्र के करीव से होकर गुजरने बाले अलीगंज मार्ग पर सदर चौराहे पर वैरीकेट लगा कर कार व बडे वाहनो का मार्ग डायवर्ट कर दिया है। लखीमपुर रोड ,मोहम्मदी रोड व खुटार मार्ग पर थाना हैदराबाद व कोतवाली गोला की स्थानीय पुलिस के साथ बाहर से आये जवान भी लगातार गश्त कर रहे है। लखीमपुर रोड पर कुनैठिया मे हनुमान मंदिर के पास भी कांवरियो की बडी संख्या रुक कर भोजन भंडारे मे लगी हुयी है। गोला मोहम्मदी मार्ग पर हनुमान मंदिर कंजा मे गोला के शिवभक्तो द्वारा कांवरिया तीर्थ यात्रियों के आराम विश्राम की भव्य व्यबस्था की गयी है। खुटार रोड पर स्थानीय शिवभक्तो द्वारा फूलबाबा आश्रम (नारायणी देवी मंदिर परिसर) मे भी कांवरियो के विश्राम की व्यबस्था प्रारम्भ है। नगर के कई स्थानो पर कांवरिया तीर्थ यात्रियो व शिव भक्तो हेतु लंगर की व्यवस्था हेतु पंडाल आदि लगाना प्रारम्भ कर दिया गया है जो कल सोमबार को प्रात: काल से ही प्रसाद  व मीठा जल वितरण करेंगे।

Working as Journalist for Aaj Tak, Editor-in-chief of this news portal.
Mobile: +919415168477, +919839147020
Email: [email protected]

Comments are closed.